Home Blog

Rubina Dilaik बिग बॉस की ट्रॉफी लेकर पहुंचीं घर तो ‘बॉस लेडी’ का यूं हुआ ग्रैंड वेलकम

0
Rubina Dilaik
Rubina Dilaik
0 0
Read Time:1 Minute, 15 Second

Rubina Dilaik ने धमाकेदार Game खेलते हुए Bigg Boss 14 सीजन जीत लिया है. Rubina Dilaik ने Game जीतकर दिखा दिया है कि किस तरह सधे हुए तरीके से खेला जा सकता है. अब Rubina Dilaik ने एक Video अपने Instagram account पर Share किया है, जिसमें Bigg Boss 14 ट्रॉफी के साथ घर पहुंचती हैं और उनका शानदार Welcome किया जाता है. Rubina Dilaik घर की सजावट देखकर खुद भी चौंक जाती हैं. घर की दीवार पर Welcome Lady Boss लिखा हुआ नजर आता है. 

Bigg Boss 14 की winner Rubina Dilaik ने इस Video को Share करते हुए लिखा है, ‘होम स्वीट होम से बेहतर और कुछ नहीं हो सकता है…लव अभिनव शुक्ला…’ इस वीडियो को एक घंटे के अदंर ही लगभग 5 लाख बार देखा जा चुका है. इस वीडियो में रुबीना दिलैक के चेहरे पर विजेता बनने की खुशी को साफ देखा जा सकता है. इस तरह उन्होंने बिग बॉस के जरिये एक शानदार सफर तय किया है.

Happy
Happy
0 %
Sad
Sad
0 %
Excited
Excited
0 %
Sleppy
Sleppy
0 %
Angry
Angry
0 %
Surprise
Surprise
0 %

पश्चिम बंगाल का सियासी घमासान: चुनाव आयोग राज्य में शांतिपूर्ण वोटिंग के लिए सेंट्रल फोर्स की 125 कंपनियां तैनात करेगा, अप्रैल-मई में होने हैं चुनाव

0
टॉप न्यूज़
0 0
Read Time:20 Second




पश्चिम बंगाल का सियासी घमासान:चुनाव आयोग राज्य में शांतिपूर्ण वोटिंग के लिए सेंट्रल फोर्स की 125 कंपनियां तैनात करेगा, अप्रैल-मई में होने हैं चुनाव



Source link


Happy

Happy

0 %


Sad

Sad

0 %


Excited

Excited

0 %


Sleppy

Sleppy

0 %


Angry

Angry

0 %


Surprise

Surprise

0 %

कश्मीर पर यूरोपियन यूनियन का नजरिया: 24 देशों के डिप्लोमैट्स के दौरे के बाद EU ने कहा- कश्मीर में जल्द से जल्द विधानसभा चुनाव हों

0
कश्मीर पर यूरोपियन यूनियन का नजरिया: 24 देशों के डिप्लोमैट्स के दौरे के बाद EU ने कहा- कश्मीर में जल्द से जल्द विधानसभा चुनाव हों
0 0
Read Time:3 Minute, 55 Second


  • Hindi News
  • National
  • 24 Diplomats Said, Assembly Elections Should Be Held In Jammu And Kashmir Soon, So That Normalcy Can Be Restored In The Area.

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

नई दिल्ली2 घंटे पहले

  • कॉपी लिंक
यूरोपीयन यूनियन की टीम ने दो दिन में LG मनोज सिन्हा और प्रमुख राजनीतिक एवं सामाजिक संगठनों से मुलाकात की थी। - Dainik Bhaskar

यूरोपीयन यूनियन की टीम ने दो दिन में LG मनोज सिन्हा और प्रमुख राजनीतिक एवं सामाजिक संगठनों से मुलाकात की थी।

यूरोपीयन यूनियन (EU) की ओर से 24 देशों के डिप्लोमैट्स ने जम्मू-कश्मीर में जल्द विधानसभा चुनाव करवाने की मांग की है। प्रतिनिधिमंडल ने कहा कि जम्मू-कश्मीर में और अधिक राजनीतिक और आर्थिक कदम उठाने की जरूरत है, ताकि सामान्य स्थिति बहाल हो सके।

यूरोपीयन यूनियन के प्रतिनिधिमंडल ने बताया कि राज्य में जिला विकास परिषदों (DDC) के चुनाव करवाए गए हैं। साथ ही 4 जी इंटरनेट सेवाओं को भी फिर से शुरू करवाया गया। भारत सरकार ने राजनीतिक और आर्थिक क्षेत्र में अच्छे प्रयास किए हैं। इसे और आगे ले जाने की जरूरत है। हालांकि, इससे पहले लॉकडाउन, इंटरनेट बैन और नेताओं की नजरबंदी की यूरोपीय संघ और अन्य देशों ने आलोचना की थी।

दौरे को लेकर विदेश मंत्रालय ने कहा, प्रतिनिधिमंडल ने बुधवार और गुरुवार को श्रीनगर, बडगाम और जम्मू का दौरा किया था। इस दौरान उन्होंने सेना के अधिकारियों, LG मनोज सिन्हा और प्रमुख राजनीतिक एवं सामाजिक संगठनों से मुलाकात की। प्रतिनिधियों ने सरकार के द्वारा कराए गए काम की सराहना करते हुए इसे और बेहतर करने की बात कही।

PM मोदी ने कहा था, जल्द चुनाव होंगे
केंद्र सरकार ने कहा है कि परिसीमन प्रक्रिया पूरी होने के बाद जम्मू और कश्मीर में चुनाव होंगे। पिछले साल स्वतंत्रता दिवस पर प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा था, ‘जैसे ही परिसीमन प्रक्रिया समाप्त हो जाएगी, भविष्य में चुनाव होंगे ताकि केंद्र शासित प्रदेश की अपनी सरकार हो, जो नए जोश के साथ विकास कार्य कर सके।’

इन देशों के डिप्लोमैट्स ने किया कश्मीर दौरा
जम्मू-कश्मीर गए प्रतिनिधिमंडल में चिली, ब्राजील, क्यूबा, बोलिविया, एस्टोनिया, फिनलैंड, फ्रांस, आयरलैंड, नीदरलैंड्स, पुर्तगाल, यूरोपीय यूनियन, बेल्जियम, स्पेन, स्वीडन, इटली, बांग्लादेश, मलावी, इरिट्रिया, आईवरी कोस्ट, घाना, सेनेगल, मलेशिया, ताजिकिस्तान, किर्गिस्तान के डिप्लोमैट्स शामिल हैं।

370 हटाने के बाद से चौथा डेलिगेशन कश्मीर गया
5 अगस्त 2019 को आर्टिकल-370 खत्म किए जाने के बाद से विदेशी डेलिगेशन का जम्मू-कश्मीर में यह चौथा दौरा है। इससे पहले अक्टूबर 2019, जनवरी और फरवरी 2020 में भी डेलिगेशन ने जम्मू-कश्मीर विजिट की था।



Source link


Happy

Happy

0 %


Sad

Sad

0 %


Excited

Excited

0 %


Sleppy

Sleppy

0 %


Angry

Angry

0 %


Surprise

Surprise

0 %

सेना की ताकत बढ़ेगी: ​​​​​​​एंटी टैंक गाइडेड मिसाइल हेलिना और ध्रुवास्त्र का सफल परीक्षण; 7 Km तक टारगेट को तबाह करने में सक्षम

0
टॉप न्यूज़
0 0
Read Time:15 Second




सेना की ताकत बढ़ेगी:​​​​​​​एंटी टैंक गाइडेड मिसाइल हेलिना और ध्रुवास्त्र का सफल परीक्षण; 7 Km तक टारगेट को तबाह करने में सक्षम



Source link


Happy

Happy

0 %


Sad

Sad

0 %


Excited

Excited

0 %


Sleppy

Sleppy

0 %


Angry

Angry

0 %


Surprise

Surprise

0 %

बंगाल में भाजपा के दामन पर दाग: पार्टी की स्टेट यूथ विंग की सचिव पामेला गोस्वामी की कार में मिली पांच लाख की कोकिन, पुलिस ने गिरफ्तार किया

0
बंगाल में भाजपा के दामन पर दाग: पार्टी की स्टेट यूथ विंग की सचिव पामेला गोस्वामी की कार में मिली पांच लाख की कोकिन, पुलिस ने गिरफ्तार किया
0 0
Read Time:2 Minute, 51 Second


  • Hindi News
  • National
  • Pamela Goswami Cocaine Update | Five Lakh Cocaine Found In State Secretary Of West Bengal Bjp’s Yuva Morcha

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

कोलकाता4 घंटे पहले

  • कॉपी लिंक
पामेला गोस्वामी के साथ प्रबीर कुमार दे और एक सुरक्षाकर्मी भी कार में मौजूद था। - Dainik Bhaskar

पामेला गोस्वामी के साथ प्रबीर कुमार दे और एक सुरक्षाकर्मी भी कार में मौजूद था।

पश्चिम बंगाल भाजपा यूथ विंग की लीडर पामेला गोस्वामी और उनके साथ प्रबीर कुमार दे को पुलिस ने कोकिन के साथ गिरफ्तार किया है। पामेला की बैग से 100 ग्राम कोकिन मिली है। इसका बाजार मुल्य करीब पांच लाख रुपए है। कार्रवाई के दौरान दोनों के साथ एक सुरक्षाकर्मी भी कार में मौजूद था।

पामेला ने अपने सोशल मीडिया एकाउंट पर भाजपा अध्यक्ष जेपी नड्‌डा समेत दिग्गज नेताओं के साथ फोटो पोस्ट किए हुए हैं।

पामेला ने अपने सोशल मीडिया एकाउंट पर भाजपा अध्यक्ष जेपी नड्‌डा समेत दिग्गज नेताओं के साथ फोटो पोस्ट किए हुए हैं।

बंगाल भाजपा यूथ विंग की सेक्रेट्री हैं पामेला
पामेला गोस्वामी भाजपा यूथ विंग की सेक्रेट्री हैं। साथ ही हुगली जिला भाजपा की सचिव हैं। उन्होंने अपने सोशल मीडिया एकाउंट पर भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्‌डा समेत दिग्गज नेताओं की तस्वीर डाल रखी है।

पुलिस को काफी समय से संदेह था कि वह नशे के कारोबार से जुड़ी हुई हैं।

पुलिस को काफी समय से संदेह था कि वह नशे के कारोबार से जुड़ी हुई हैं।

नशे के कारोबार से पामेला का कनेक्शन: पुलिस
पुलिस का कहना है कि पामेला गोस्वामी और प्रबीर कुमार दे के बीच लंबे समय से दोस्ती है। पुलिस को काफी समय से संदेह था कि वह नशे के कारोबार से जुड़ी हुई हैं। पुलिस उन पर नजर रख रही थी।

वह इस बार हुगली जिले के किसी विधानसभा सीट से चुनाव भी लड़ने की तैयारी में हैं।

वह इस बार हुगली जिले के किसी विधानसभा सीट से चुनाव भी लड़ने की तैयारी में हैं।

न्यू अलीपुर पुलिस घटना स्थल पर पहुंचीं और उन्हें गिरफ्तार किया। गिरफ्तारी के समय पामेला गोस्वामी के साथ केंद्रीय सुरक्षा बल के जवान भी थे। पुलिस शनिवार को दोनों को कोर्ट में पेश करेगी।

अमित शाह के परिवर्तन रथ यात्रा के दौरान पामेला भी मौजूद थी।

अमित शाह के परिवर्तन रथ यात्रा के दौरान पामेला भी मौजूद थी।



Source link


Happy

Happy

0 %


Sad

Sad

0 %


Excited

Excited

0 %


Sleppy

Sleppy

0 %


Angry

Angry

0 %


Surprise

Surprise

0 %

किसान आंदोलन का 41वां दिन: टिकरी बॉर्डर पर किसानों ने ईंट-गारे से स्थाई ठिकाना बनाना शुरू किया; ट्रैक्टर मार्च कल नहीं, 7 जनवरी को निकालेंगे

0
टॉप न्यूज़
0 1
Read Time:4 Minute, 51 Second


  • Hindi News
  • National
  • Farmers On The Tikari Border Started Building Permanent Bases With Brick And Mortar; Tractors Will Be Out On March 7, Not Tomorrow

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

नई दिल्ली23 मिनट पहले

पिछले दिनों हुई बारिश में किसानों के टेंट गिर गए थे। इसके बाद किसानों ने मंगलवार को टिकरी बॉर्डर पर भूमि पूजन किया और फिर स्थाई ठिकाना बनाना शुरू कर दिया।

नए कृषि कानूनों के खिलाफ किसानों के आंदोलन का मंगलवार को 41वां दिन है। सोमवार को किसानों और केंद्र के बीच 8वें दौर की बातचीत भी बेनतीजा रही। हाल-फिलहाल कोई रास्ता नहीं निकलता दिख रहा है, इस बीच किसानों ने टिकरी बॉर्डर पर ईंट-गारा से स्थाई ठिकाना बनाना शुरू कर दिया है। पिछले दिनों हुई बारिश के चलते किसानों के टेंट गिर गए थे। इसके चलते आंदोलन कर रहे किसानों को परेशानी का सामना करना पड़ा था।

आंदोलन कर रहे किसान सड़क के बीच में ही स्थाई तौर पर ऑफिस भी बना रहे हैं। निर्माण का काम काफी तेजी से चल रहा है। किसानों ने बताया कि बारिश के चलते टेंट में चल रहे सोशल मीडिया का कार्यालय गिर गया था। इसलिए वह स्थायी ऑफिस बना रहे हैं।

अब गाय-भैंस भी लाने की तैयारी में किसान

सोमवार को 4 घंटे चली बैठक में सरकार कानूनों में बदलाव की बात दोहराती रही। किसान कानून वापसी पर अड़े रहे। अगली मीटिंग के लिए 8 जनवरी का दिन तय हुआ है। इससे पहले किसान संगठनों ने 7 जनवरी को सिंधु से टिकरी, टिकरी से शाहजहांपुर, गाजीपुर से पलवल और पलवल से गाजीपुर तक ट्रैक्टर मार्च निकालने का फैसला किया है। पहले यह मार्च 6 जनवरी यानी कल होना था। किसानों ने साफ कर दिया है कि कानून वापसी नहीं तो घर वापसी नहीं।

लंबे टकराव के लिए स्थाई निवास तो बनने शुरू ही हो गए हैं। राशन-पानी और दूध की भी पुख्ता व्यवस्था की जा रही है। किसानों ने दूध के लिए आंदोलन स्थल पर ही गाय-भैंस लाने का प्लान बनाया है। उनका कहना है कि दूध लाने के लिए उन्हें दूर जाना पड़ता है। इसमें काफी समय और आर्थिक नुकसान होता है। अब यहीं पर गाय-भैंस लाकर दूध की सप्लाई करेंगे।

सरकार से बातचीत में किसने क्या कहा?
सोमवार को हुई बातचीत में कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने किसान नेताओं से पूछा कि MSP पर क्या दिक्कतें हैं। किसान नेता गुरनाम सिंह चढूनी बोले- सरकार सभी फसलों की MSP की गारंटी दे। कृषि मंत्री ने कहा- हम तैयार हैं, आप पॉइंट बताएं। हमें अपना होम वर्क करना पड़ेगा। इस पर किसान नेता बोले- 8 दौर की चर्चा हो चुकी और कितना समय चाहिए। मीटिंग खत्म होने के बाद कृषि मंत्री ने कहा कि ताली दोनों हाथ से बजती है।

वाणिज्य राज्य मंत्री ने कुछ किसानों से अकेले में बात की
कृषि मंत्री के अलावा मीटिंग में रेल मंत्री पीयूष गोयल और वाणिज्य राज्य मंत्री सोम प्रकाश भी शामिल हुए थे। MSP पर चर्चा के बाद किसानों ने कानून रद्द करने की मांग उठाई। तोमर बोले- कमेटी बना लेते हैं। किसानों ने कहा- कोई कमेटी नहीं बनेगी, कानून रद्द करें। सोम प्रकाश कुछ नेताओं को किनारे ले गए और बात की। जिस पर दूसरे किसान नेता बोले, कानून रद्द करें। इसके बाद तोमर ने कहा कानून के समर्थन में भी काफी संगठन और किसान हैं। हम सिर्फ आपकी बात सुनकर इन्हें रद्द नहीं कर सकते।



Source link


Happy

Happy

0 %


Sad

Sad

0 %


Excited

Excited

0 %


Sleppy

Sleppy

0 %


Angry

Angry

0 %


Surprise

Surprise

0 %

कोरोना से भारत में डेढ़ लाख मौतें: दुनिया का तीसरा देश, जहां सबसे ज्यादा मौतें; पर बेहतर इलाज से 4 महीने में 30 हजार से ज्यादा की जान बची

0
टॉप न्यूज़
0 0
Read Time:5 Minute, 3 Second





बुरी खबर है। देश में कोरोना से जान गंवाने वालों की संख्या 1 लाख 50 हजार से ज्यादा हो गई है। भारत दुनिया का तीसरा देश है, जहां संक्रमण के चलते सबसे ज्यादा मौतें हुई हैं। राहत वाली बात ये है कि बेहतर इलाज और मरीजों के मजबूत इरादों ने 4 महीने में करीब 30 हजार से ज्यादा लोगों की जान बचा ली है। आंकड़े यही बयां कर रहे हैं।

सितंबर तक देश में हर दिन 1000 से 1300 मौतें हो रहीं थीं। इसके बाद इसमें गिरावट शुरू होने लगी। आंकड़ों पर नजर डालें तो सितंबर में सबसे ज्यादा 32 हजार 246 लोगों की मौत हुई। अक्टूबर में यह घटकर 22 हजार 344 हो गई। नवंबर में 15 हजार 17 और दिसंबर में 10 हजार 858 मरीजों ने जान गंवाई। इन तीन महीने के अंदर मौत की रफ्तार में 23% की गिरावट दर्ज की गई है। अगर सितंबर की रफ्तार से अभी भी लोगों की जान जा रही होती तो अब तक मरने वालों का आंकड़ा 1 लाख 80 हजार से ज्यादा पहुंच गया होता।

अब तक 1.4% मरीजों ने जान गंवाई

देश में अब तक 1.4% कोरोना मरीजों की मौत हुई है। ये दुनिया के 10 सबसे ज्यादा संक्रमित देशों में सबसे कम है। अमेरिका में 1.69% मरीज जान गंवा चुके हैं। सबसे हाई डेथ रेट मैक्सिको का है। यहां 8.77% मरीजों की मौत हो चुकी है। हर 10 लाख की आबादी में भारत के 108 मरीजों की मौत हो रही है। इतनी ही आबादी में अमेरिका के 1091, ब्राजील के 922 और मैक्सिको के 986 मरीजों ने जान गंवाई।

दूसरे देशों के मुकाबले कम क्यों मौतें?
बनारस हिंदू विश्वविद्यालय (BHU) के प्रोफेसर ज्ञानेश्वर चौबे बताते हैं कि देश में लोगों की सेल्फ इम्युनिटी से कोरोना हार रहा है। कहते हैं भारत में हर्ड इम्युनिटी से ज्यादा कोरोना प्रतिरोधक क्षमता पहले से ही लोगों के जीन में मौजूद है। यह क्षमता लोगों के शरीर की कोशिकाओं में मौजूद एक्स क्रोमोसोम के जीन SE-2 रिसेप्टर (गेटवे) से मिलती है।

इसी वजह से जीन पर चल रहे म्यूटेशन कोरोनावायरस को कोशिका में प्रवेश से रोक देते हैं। इस म्यूटेशन का नाम- RS-2285666 है। भारत के लोगों का जीनोम बहुत अच्छी तरह से बना हुआ है। यहां लोगों के जीनोम में इतने यूनीक टाइप के म्यूटेशन हैं, जिसकी वजह से देश में मृत्युदर कम है, जबकि रिकवरी रेट सबसे ज्यादा है।

सबसे ज्यादा पुरुष मरीजों की मौत
केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय की रिपोर्ट के मुताबिक, कोरोना का सबसे ज्यादा असर पुरुषों पर देखने को मिला है। अब तक मिले कुल संक्रमितों में 63% संक्रमित पुरुष हैं, जबकि 37% महिलाएं हैं। उम्र के हिसाब से देखें तो 8% मरीजों की उम्र 17 साल से कम है। 18 से 25 साल के 13%, 26 से 44 साल के 39%, 45 से 60 साल के 26% और 60 साल से अधिक के 14% लोग संक्रमित हुए हैं। कोरोना से जान गंवाने वाले 70% पुरुष मरीज थे, जबकि 30% महिला संक्रमितों की मौत हुई है।

22 राज्य और केंद्र शासित प्रदेशों में 1.4% से कम मौतें
देश के 22 राज्य और केंद्र शासित राज्य ऐसे हैं, जहां डेथ रेट 1.4% या इससे कम है। डेथ रेट का नेशनल एवरेज 1.4% है। मतलब हर 100 कोरोना मरीजों में एक मरीज की मौत हो रही है। पंजाब का डेथ रेट सबसे हाई है। यहां अब तक 3.2% मरीजों की मौत हो चुकी है। महाराष्ट्र के 2.6% मरीज जान गंवा चुके हैं।

आज की ताज़ा ख़बरें पढ़ने के लिए दैनिक भास्कर ऍप डाउनलोड करें


Corona Death Cross 1.50 Lakhs In India‌‌. The third country in the world with the highest number of deaths; But better treatment saved more than 30 thousand lives in 3 months



Source link


Happy

Happy

0 %


Sad

Sad

0 %


Excited

Excited

0 %


Sleppy

Sleppy

0 %


Angry

Angry

0 %


Surprise

Surprise

0 %

कोरोना देश में: UK से आने वालों के लिए RT-PCR टेस्ट अनिवार्य; हर हफ्ते अब 60 की बजाय केवल 30 फ्लाइट्स होंगी

0
टॉप न्यूज़
0 0
Read Time:7 Minute, 29 Second





सिविल एविएशन मिनिस्टर हरदीप सिंह पुरी ने मंगलवार को कहा कि UK से आने वाले सभी लोगों के लिए कोरोना का RT-PCR टेस्ट अनिवार्य है। भारत आने से 72 घंटे पहले ये टेस्ट होना चाहिए। कोरोना के नए स्ट्रेन का खतरा देखते हुए UK आने-जाने वाली फ्लाइट्स भी सीमित कर दी गई हैं। अब हर हफ्ते 60 की बजाय 30 फ्लाइट्स की चलाई जाएंगी। कुछ दिनों पहले ही पुरी ने हर हफ्ते 60 फ्लाइट्स शुरू करने का ऐलान किया था।

इस बीच, हिमाचल प्रदेश सरकार ने राज्य के 4 जिलों में लागू नाइट कर्फ्यू के फैसले को वापस ले लिया है। अब यहां नाइट कर्फ्यू नहीं रहेगा। मंगलवार को इसके लिए राज्य सरकार ने आदेश जारी कर दिया।

कोरोना से डेढ़ लाख मौतें हुईं

कोरोना से जान गंवाने वालों की संख्या डेढ़ लाख से ज्यादा हो गई है। अब तक 1 लाख 50 हजार 106 मरीज जान गंवा चुके हैं। पिछले 24 घंटे के अंदर 220 संक्रमितों की मौत हुई। 15 हजार 718 नए केस मिले और 16 हजार 699 लोग रिकवर हुए। देश में अब 2 लाख 26 हजार 872 मरीज ऐसे हैं जिनका इलाज चल रहा है। ये आंकड़े covid19india.org से लिए गए हैं।

13 हजार एक्टिव केस कम हुए

वैक्सीनेशन के अलावा कोरोना के केसों को लेकर भी अच्छी खबर है। देश में कोरोना संक्रमितों के आंकड़ों में बड़ी गिरावट दर्ज की गई है। बीते 24 घंटे में सिर्फ 16 हजार 278 नए संक्रमितों की पहचान हुई, जबकि 29 हजार 209 मरीज ठीक हो गए। 200 लोगों की मौत हुई। इस तरह एक्टिव केस यानी इलाज करा रहे मरीजों की संख्या में 13 हजार 140 की कमी आई। 16 दिसंबर के बाद यह सबसे बड़ी गिरावट है। तब 15 हजार 569 एक्टिव केस कम हुए थे।

कोरोना अपडेट्स

  • केंद्रीय स्वास्थ्य सचिव राजेश भूषण ने मंगलवार को कहा कि वैक्सीनेशन के ड्राई रन के आधार पर जो डेटा हासिल हुआ है, उसके हिसाब से सरकार 10 दिन में वैक्सीनेशन शुरू करने की तैयारी में हैं। भूषण ने कहा कि हेल्थ वर्कर्स और फ्रंट लाइन वर्कर्स को रजिस्ट्रेशन की जरूरत नहीं पड़ेगी, क्योंकि ये हाई प्रियॉरिटी ग्रुप में हैं और इनका डेटा पहले से ही को-विन वैक्सीन डिलिवरी मैनेजमेंट सिस्टम पर मौजूद है।
  • आर्मी चीफ एमएम नरवणे ने मंगलवार को बेस हॉस्पिटल में कोविड-19 वॉरियर्स से मुलाकात की।
  • वैक्सीन के इमरजेंसी इस्तेमाल के लिए मंजूरी हासिल कर चुकीं दोनों कंपनियों ने मंगलवार को जॉइंट स्टेटमेंट जारी किया। इसमें सीरम के CEO अदार पूनावाला और भारत बायोटेक के चेयरमैन डॉ. कृष्णा एल्ला ने कहा कि हमारे सामने बड़ा और महत्वपूर्ण टास्क है- देश और दुनिया के लोगों की जान बचाना।
  • महाराष्ट्र के स्वास्थ्य मंत्री राजेश टोपे ने मंगलवार को कहा कि उन्होंने वैक्सीनेशन ड्राइव से जुड़े कुछ मुद्दों पर केंद्र सरकार से सफाई मांगी है। टोपे ने बताया कि राज्य में वैक्सीनेशन के लिए पूरी तैयारी है। कोल्ड स्टोरेज और ट्रांसपोर्टेशन की सुविधा भी पुख्ता है।
  • केंद्र सरकार ने कहा कि कोविड-19 वैक्सीन के एक्सपोर्ट पर किसी तरह का बैन नहीं लगाया गया है। मीडिया में चल रहीं ये खबरें गलत हैं।

5 राज्यों का हाल
1. दिल्ली

राज्य में मंगलवार को 442 लोग कोरोना संक्रमित पाए गए। 557 लोग रिकवर हुए और 12 की मौत हो गई। अब तक 6 लाख 27 हजार 698 लोग संक्रमण की चपेट में आ चुके हैं। इनमें 6 लाख 12 हजार 527 लोग ठीक हो चुके हैं, जबकि 10 हजार 609 की मौत हो गई। अभी 4362 मरीज ऐसे हैं जिनका इलाज चल रहा है।

2. मध्यप्रदेश

राज्य में मंगलवार को 671 लोग कोरोना संक्रमित पाए गए। 839 लोग रिकवर हुए और 14 की मौत हो गई। अब तक 2 लाख 45 हजार 318 लोग संक्रमण की चपेट में आ चुके हैं। इनमें 2 लाख 33 हजार 229 लोग ठीक हो चुके हैं, जबकि 3662 लोग जान गंवा चुके हैं। 8427 मरीज ऐसे हैं जिनका इलाज चल रहा है।

3. गुजरात

राज्य में मंगलवार को 655 लोग कोरोना संक्रमित पाए गए। 868 लोग रिकवर हुए और 4 की जान चली गई। अब तक 2 लाख 48 हजार 581 लोग संक्रमण की चपेट में आ चुके हैं। इनमें 2 लाख 35 हजार 526 लोग ठीक हो चुके हैं, जबकि 4325 मरीज जान गंवा चुके हैं। 8730 मरीज ऐसे हैं जिनका इलाज चल रहा है।

4. राजस्थान

राज्य में मंगलवार को 397 लोग कोरोना संक्रमित पाए गए। 751 लोग रिकवर हुए और 5 की मौत हो गई। अब तक 3 लाख 10 हजार 675 लोग संक्रमण की चपेट में आ चुके हैं। इनमें 3 लाख 126 लोग ठीक हो चुके हैं, जबकि 2719 मरीजों की मौत हो चुकी है। 7830 मरीज ऐसे हैं जिनका इलाज चल रहा है।

5. महाराष्ट्र

राज्य में मंगलवार को 3160 नए केस मिले। 2828 लोग रिकवर हुए और 64 की मौत हो गई। अब तक 19 लाख 50 हजार 171 लोग संक्रमण की चपेट में आ चुके हैं। इनमें 18 लाख 50 हजार 189 लोग ठीक हो चुके हैं, जबकि 49 हजार 759 मरीजों की मौत हो चुकी है। 49 हजार 67 मरीज ऐसे हैं जिनका इलाज चल रहा है।

आज की ताज़ा ख़बरें पढ़ने के लिए दैनिक भास्कर ऍप डाउनलोड करें


फोटो अरुणाचल प्रदेश की है। यहां कोविड-19 ड्राई रन में वॉलंटियर को वैक्सीन लगाती स्वास्थ्यकर्मी।



Source link


Happy

Happy

0 %


Sad

Sad

0 %


Excited

Excited

0 %


Sleppy

Sleppy

0 %


Angry

Angry

0 %


Surprise

Surprise

0 %

‘अवैध संबंध’ को लेकर महिला ने ‘मानसिक रूप से प्रताड़ित’ किया, सिपाही ने की खुदकुशी

0
‘अवैध संबंध' को लेकर महिला ने ‘मानसिक रूप से प्रताड़ित' किया, सिपाही ने की खुदकुशी
0 0
Read Time:14 Second



उत्तर प्रदेश के बुलंदशहर में मंगलवार को एक पुलिस कॉन्स्टेबल द्वारा खुदकुशी करने का सनसनीखेज मामला सामने आया है।



Source link


Happy

Happy

0 %


Sad

Sad

0 %


Excited

Excited

0 %


Sleppy

Sleppy

0 %


Angry

Angry

0 %


Surprise

Surprise

0 %

रणवीर सिंह बोले- नए साल में भी ऐसे सिंगर्स को मौका देते रहेंगे, जो देश के कल्चर, डायवर्सिटी और रिएलिटी को सेलिब्रेट करते हों

0
0 0
Read Time:2 Minute, 23 Second


महामारी के माहौल के बावजूद रणवीर सिंह ने अपने म्यूजिक के पैशन प्रोजेक्‍ट को इफेक्ट नहीं होने दिया है। पिछले साल जनवरी से दिसंबर तक उन्‍होंने अपने म्यूजिक लेबल ‘इंक-इंक’ के तहत 9 म्यूजिक वीडियो लॉन्च किए। कई देसी सिंगिंग प्रतिभाओं को मौके दिए। नए साल को लेकर भी वो कुछ अलग योजनाओं पर काम कर रहे हैं।

रणवीर ने कहा, “हम भारत में म्यूजिक की दुनिया के भावी सुपरस्टार को लोगों के सामने लाने की कोशिश कर रहे हैं। ऐसे सिंगर्स को मौका दे रहे हैं, जो देश के कल्चर, डायवर्सिटी और रियलिटी को सेलिब्रेट करते हैं। जब आप नए आर्टिस्ट की तलाश करने और उन्हें जबरदस्त तरीके से दुनिया के सामने लाने को अपना मिशन बनाते हैं, तो आप को हर दिन अपने उस संकल्प के साथ जीना होगा।”

हम युवा प्रतिभाओं से किए गए वादों को पूरा करने में कामयाब हुए हैं
रणवीर ने आगे कहा, “जी हाँ, साल 2020 म्यूजिक और एंटरटेनमेंट इंडस्ट्री के लिए चुनौतियों से भरा रहा है, लेकिन मुझे खुशी है कि Inc-Ink अपने सफर पर लगातार आगे बढ़ रहा है और इसके जरिए हम भारत के युवा एवं शानदार प्रतिभाओं से किए गए अपने वादों को पूरा करने में कामयाब हुए हैं।”

एक्टर ने कहा, “एक इंडिपेंडेंट रिकॉर्ड लेबल के रूप में हमारे इस ग्रुप में वाकई पूरी तरह कमिटेड और जोश से भरे संगीत प्रेमी शामिल हैं। हमारा इरादा संगीत प्रेमियों के सामने एक नई आवाज को प्रस्तुत करना है और इस लक्ष्य को हासिल करने के लिए, हम एक भी दिन की छुट्टी नहीं ले सकते।”


Ranveer Singh said – In the new year also we will continue to give chance to such singers, who celebrate the culture, diversity and reality of the country

Happy

Happy

0 %


Sad

Sad

0 %


Excited

Excited

0 %


Sleppy

Sleppy

0 %


Angry

Angry

0 %


Surprise

Surprise

0 %