Saturday, May 8, 2021
0 0
Home National इहां, कुछु क्लियर नहीं है, समझे में नहीं आ रहा है कि...

इहां, कुछु क्लियर नहीं है, समझे में नहीं आ रहा है कि ई बेर कौन बाजी मारेगा; वोटर सब की तो बात छोड़िए, नेतवन भी सब कंफ्यूज है

Read Time:5 Minute, 19 Second


शाम के 4-5 बजे का वक्त है। डुमरांव राजगढ़ के सामने चहल-पहल कुछ ज्यादा है। थोड़ी ही देर पहले चमचमाती कारों के साथ नेता जी अपने पिछलग्गुओं को लेकर प्रचार के लिए निकले हैं। सामने 7-8 लोगों की एक चौपाल लगी है। पिछली बार यहां से चुनाव हारे एक नेता जी (रामबिहारी सिंह) भी बैठे हैं। इस बार इनको किसी पार्टी से टिकट नहीं मिला है। जदयू से रालोसपा और फिर रालोसपा से जदयू का चक्कर काट चुके हैं।

मेरे साथ ही खड़ा एक युवक धीरे से कहता है, ‘ई कई बार चुनाव लड़े लेकिन का बताएं, इनके नसीब में विधायक बनना था ही नहीं। अब तो संन्यासे समझिए।’

न तो नेता जी मास्क पहने हैं, न इनके साथ बैठे लोग। कोरोना का तो जैसे इनपे कोई असर ही नहीं है। नेताजी जी कह रहे हैं, ‘ई बेर माहौल जदयू के साथ है। आप लोग जोर लगाइए। वोट कटवन से सावधान रहना है।’

हमने पूछा कि ‘टिकट कटवन’ के बारे में आपका क्या ख्याल है, आप लोगों ने तो अपने सिटिंग एमएलए का ही टिकट काट के ऐसे उम्मीदवार को दे दिया, जिसके बारे में लोग जानते भी नहीं हैं। कहते हैं- ‘सब देखते जाइए, कोई टक्कर में नहीं है।’

यहां से आगे बढ़े तो कुछ और युवा मिले। इनमें से एक भाजपा से जुड़ा है और वार्ड पार्षद भी है। हमने डुमरांव के माहौल के बारे में पूछा तो कहता हैं, ‘कुछु क्लियर नहीं है। समझे में नहीं आ रहा है कि ई बेर कौन बाजी मारेगा। वोटर सब की तो बात छोड़िए, नेतवन भी सब कंफ्यूज है।’

दरअसल, जदयू ने सिटिंग एमएलए ददन यादव का टिकट काटकर अंजुम आरा को दिया तो ददन निर्दलीय ही उतर गए हैं। उधर, राजद और रालोसपा तो हैं ही। सबसे दिलचस्प ई है कि अबकी बार डुमरांव राजघराने से पहली बार कोई विधानसभा का चुनाव लड़ रहा है। नाम है शिवांग विजय। निर्दलीय ही मैदान में उतरे हैं। इनके दादा महाराजा कमल सिंह बक्सर से दो बार लगातार सांसद रहे थे। इसी साल जनवरी में उनकी मौत हो गई। इलाके में बहस के कई सिरे हैं। सबसे ज्यादा चर्चा जदयू-भाजपा-रालोसपा-राजद के गुणा-गणित की है।

भाजपा से जुड़े लोग ही कह रहे हैं कि- अबकी जदयू को ठिकाने लगाना है। अभी थोड़ा माहौल बनने दीजिए न, फिर तय होगा कि महाराज को वोट देना है कि लोजपा को। इहे दुनों में से कोई एक को हमलोग वोट करेंगे, जदयू का त खेले खल्लास है।

बगल में ही लिट्टी की दुकान पर थोड़ी भीड़ तो दिख रही है, लेकिन माहौल पूरी तरह शांत है। कोई पॉलिटिकल डिबेट नहीं हो रही है। ऐसा पहली बार ही दिख रहा है कि चुनाव से चंद दिन पहले भी लोगों के बीच इस कदर खामोशी छाई हुई है। मेरे साथ ही एक स्थानीय पत्रकार भी लिट्टी खा रहे हैं। उनसे पूछा कि इस खामोशी की वजह कोरोना तो नहीं? बोले, ‘कोरोना का तो कोई असर नहीं हैं, यहां के लोगों पर। देखिए न, कोई आपको मास्क पहने हुए दिख रहा है? आप मास्क पहने हैं तो कुछ दिन बाद लोग आपका ही मजाक उड़ाने लगेंगे!

देखिए भीतरखाने की बात तो ई है कि ‘अबकी खाली डुमरांव में ही नहीं पूरे बिहार में भाजपा खेल करने वाली है और ई बात नीतीश भी अच्छे से समझ रहे हैं’। यह सब सुनते बगल वाले सज्जन से रहा नहीं गया। बोले- ‘नीतीशो को हल्के में मत लीजिए। कल को भाजपा से बात नहीं बनी तो उनको फिर पलटी मारकर राजद में जाने में कोई फेर नहीं है’। उनका राजनीतिक विश्लेषण यहीं पूरा नहीं हुआ है। बोले- ‘…लेकिन अभी दोनों दल फूंक-फूंक कर कदम उठा रहे हैं। परिणाम जो भी हो, लेकिन एक चीज तो साफ दिख रहा है कि नीतीश को ई बेर सबसे ज्यादा नुकसान होगा। अब इसका फायदा लोजपा को होता है कि राजद को आगे की सारी राजनीति और सरकार का बनना-बिगड़ना इसी बात पर निर्भर रहने वाला है।

आज की ताज़ा ख़बरें पढ़ने के लिए दैनिक भास्कर ऍप डाउनलोड करें


Bihar Election 2020; Buxar Dumraon Locals Political Debate On Upendra Kushwaha Rashtriya Lok Samta Party (RLSP) Party Ram Bihari Singh

About Post Author




Happy

Happy

0 %


Sad

Sad

0 %


Excited

Excited

0 %


Sleppy

Sleppy

0 %


Angry

Angry

0 %


Surprise

Surprise

0 %

RELATED ARTICLES

अरे दीदी Modi को क्रेडिट मत दीजिए, पर गरीब के पेट पर क्यों लात मार रही हैं? Mamata Banerjee पर PM Modi का निशाना

West Bengal के खड़गपुर में जनसभा के दौरान मुख्यमंत्री ममता बनर्जी (Mamata Banerjee) पर निशाना साधते हुए PM नरेंद्र मोदी ने कहा...

पश्चिम बंगाल का सियासी घमासान: चुनाव आयोग राज्य में शांतिपूर्ण वोटिंग के लिए सेंट्रल फोर्स की 125 कंपनियां तैनात करेगा, अप्रैल-मई में होने हैं...

पश्चिम बंगाल का सियासी घमासान:चुनाव आयोग राज्य में शांतिपूर्ण वोटिंग के लिए सेंट्रल फोर्स की 125 कंपनियां तैनात करेगा, अप्रैल-मई में होने हैं...

Leave a Reply

Most Popular

प्रियंका चोपड़ा, निक जोनास को नहीं लेती थी सीरियसली, ओपरा विनफ्रे को बताई वजह

बॉलीवुड (Bollywood) के बाद हॉलीवुड (Hollywood) में धमाल मचा रही प्रिंयका चोपड़ा जोनास (Priyanka Chopra Jonas) इन दिनों सुर्खियों में हैं. कुछ...

Facebook, Whatsapp, Instagram कुछ देर के लिए ठप पड़े, social media में मच गया हंगामा

India समेत दुनिया के तमाम देशों में facebook, whatsapp और instagram जैसी Social sites शुक्रवार रात कुछ देर के लिए ठप पड़...

अरे दीदी Modi को क्रेडिट मत दीजिए, पर गरीब के पेट पर क्यों लात मार रही हैं? Mamata Banerjee पर PM Modi का निशाना

West Bengal के खड़गपुर में जनसभा के दौरान मुख्यमंत्री ममता बनर्जी (Mamata Banerjee) पर निशाना साधते हुए PM नरेंद्र मोदी ने कहा...

Rubina Dilaik बिग बॉस की ट्रॉफी लेकर पहुंचीं घर तो ‘बॉस लेडी’ का यूं हुआ ग्रैंड वेलकम

Rubina Dilaik ने धमाकेदार Game खेलते हुए Bigg Boss 14 सीजन जीत लिया है. Rubina Dilaik ने Game जीतकर दिखा दिया है...

Recent Comments