0 0
Read Time:3 Minute, 13 Second


खुफिया एजेंसियों के सूत्रों ने दैनिक भास्कर को पुख्ता जानकारी दी है कि जम्मू में गुरुवार सुबह हुए एनकाउंटर में मारे गए चारों आतंकी जैश के हैं और पाकिस्तानी हैं। वे डिस्ट्रिक्ट डेवलपमेंट काउंसिल (DDC) के चुनाव में बड़े हमले करने की फिराक में थे। इसकी साजिश पाकिस्तान में बैठे जैश सरगना मसूद अजहर के भाई रऊफ लाला ने रची थी। चारों ने मंगलवार-बुधवार की रात भारत-पाकिस्तान अंतरराष्ट्रीय सीमा से घुसपैठ की थी।

हाल ही में हीरानगर सेक्टर के पार दिखा था रऊफ

सूत्रों के अनुसार, ‘रऊफ कुछ दिनों से जम्मू के सांबा और हीरानगर सेक्टर के उस पार पाकिस्तान के शक्करगढ़ इलाके में देखा गया है। वह इसी साल 31 जनवरी को ऐसे ही घुसपैठ कराने और मुठभेड़ के पीछे का मास्टरमाइंड था। तब भी सुरक्षाबलों ने आतंकियों को बन टोल प्लाजा के पास घेरकर मार गिराया था।’

पुलिस पहले से तैयार थी

खुफिया एजेंसियों ने आतंकियों के दाखिल होने की जानकारी बुधवार को ही सुरक्षा एजेंसियों और जम्मू-कश्मीर पुलिस से साझा कर ली थी। ऐसे में पुलिस की टीम तैयार थी। जम्मू के आईजी मुकेश सिंह की अगुआई में एसएसपी श्रीधर पाटिल और एसपी नरेश सिंह ने पूरे एनकाउंटर को खुद अंजाम दिया।

सूत्रों के अनुसार रऊफ बीते कुछ दिनों से शक्करगढ़ लॉन्चिंग पेड में मौजूद फिदायीन आतंकियों की घुसपैठ की कोशिश कर रहा था। यह भी बताया गया है कि घुसपैठिए चार और दो के ग्रुप में थे। हालांकि, इस बारे में सुरक्षा एजेंसियां जांच कर रही हैं।

11 एके 47 राइफलें, 29 हैंड ग्रेनेड बरामद

इन आतंकियों के पास से 11 एके 47 राइफलें, 29 हैंड ग्रेनेड और तीन पिस्टल बरामद हुई हैं। इसके अलावा कई और सामान भी मिला है। ट्रक में चावल की बोरियों के बीच छिपकर जम्मू से श्रीनगर जा रहे इन आतंकियों को पुलिस ने मार गिराया।

पुलिस और सुरक्षा बलों का कहना है कि जम्मू कश्मीर में बीते कुछ महीनों में बरामद किए गए हथियारों की सबसे

DDC

आज की ताज़ा ख़बरें पढ़ने के लिए दैनिक भास्कर ऍप डाउनलोड करें


मसूद अजहर (सफेद पगड़ी में) जैश का सरगना है। वह कंधार विमान अपहरण मामले का मुख्य साजिशकर्ता था। -फाइल फोटो

About Post Author

Happy
Happy
0 %
Sad
Sad
0 %
Excited
Excited
0 %
Sleppy
Sleppy
0 %
Angry
Angry
0 %
Surprise
Surprise
0 %

Average Rating

5 Star
0%
4 Star
0%
3 Star
0%
2 Star
0%
1 Star
0%

Leave a Reply