Saturday, January 16, 2021
0 0
Home National माता-पिता की कब्र के बगल में दफनाए जाएंगे, राहुल गांधी सुपुर्द-ए-खाक में...

माता-पिता की कब्र के बगल में दफनाए जाएंगे, राहुल गांधी सुपुर्द-ए-खाक में शामिल होंगे

Read Time:4 Minute, 8 Second


कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और गुजरात से राज्यसभा सांसद अहमद पटेल (71) का बुधवार तड़के निधन हो गया था। पटेल 1 अक्टूबर को कोरोना संक्रमित हुए थे। भरूच जिले के पिरामण गांव के रहने वाले अहमद पटेल की इच्छा थी कि उन्हें पिरामण गांव में ही माता-पिता की कब्र के पास दफनाया जाए। इसलिए माता-पिता की कब्र के बगल में ही उनकी कब्र भी बनाई गई है। सुपुर्द-ए-खाक में शामिल होने राहुल गांधी भी गुजरात पहुंच चुके हैं।

पिरामण गांव के मौलवी मौलाना रहमान ने बताया कि दिल्ली से कल रात करीब 8.30 बजे उनकी पार्थिव देह चार्टर्ड प्लेन से वडोदरा लाई गई थी और रात में ही वडोदरा से अंकलेश्वर ले जाया गया था। अंकलेश्वर में उनका शव सरदार पटेल हॉस्पिटल हार्ट इंस्टीट्यूट में रखा गया था। जहां से गुरुवार सुबह पिरामण गांव ले जाया गया। अहमद पटेल का पिरामण गांव से बहुत लगाव था।

माता-पिता के कब्र के बगल में खोदी गई है अहमद पटेल की कब्र।

परिवार में एक बेटा और बेटी
अहमद पटेल राजनीति में काफी कामयाब रहे। हालांकि, उन्होंने इससे परिवार को काफी दूर रखा। अहमद पटेल की 1976 में मेमुना अहमद से शादी हुई थी। उनके बेटे फैजल पटेल बिजनेसमैन हैं और उनका राजनीति से दूर-दूर तक का रिश्ता नहीं हैं। वहीं, बेटी मुमताज की शादी भी वकील इरफान सिद्दिकी से हुई है।

पिता पंचायत के सदस्य थे
मोहम्मद इशाजी पटेल और हवाबेन मोहम्मद की संतान अहमद पटेल का जन्म भरूच के पिरामण गांव में 1949 को हुआ था। पिता भरूच तहसील की पंचायत के सदस्य और तहसील के चर्चित नेता थे। इसी के चलते शुरुआत से ही अहमद पटेल की राजनीति में रुचि रही और पिता ने भी राजनीतिक करियर बनाने में उनकी खूब मदद की।

पिरामण गांव में अहमद पटेल के घर के बाहर जमा गांव के लोग।

28 साल में सांसद बन गए थे
पटेल का जन्म 21 अगस्त 1949 को गुजरात के भरूच जिले के पिरामण गांव में हुआ था। वे 3 बार लोकसभा सांसद (1977 से 1989) और 4 बार राज्यसभा सांसद (1993 से 2020) रहे। उन्होंने पहला चुनाव 1977 में भरूच लोकसभा सीट से लड़ा था और 62 हजार 879 वोटों से जीते थे। तब उनकी उम्र सिर्फ 28 साल थी। 1980 में पटेल भरूच से ही 82 हजार 844 वोटों से और 1984 में 1 लाख 23 हजार 69 वोटों से जीत दर्ज की थी।

पिरामण गांव में अहमद पटेल का घर।

सोनिया गांधी के राजनीतिक सलाहकार थे अहमद पटेल
अहमद पटेल 2001 से सोनिया गांधी के राजनीतिक सलाहकार थे। जनवरी 1986 में वे गुजरात कांग्रेस के अध्यक्ष बने थे। 1977 से 1982 तक यूथ कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष भी रहे. सितंबर 1983 से दिसंबर 1984 तक वे कांग्रेस के जॉइंट सेक्रेटरी रहे। बाद में उन्हें कांग्रेस का कोषाध्यक्ष बनाया गया था।

आज की ताज़ा ख़बरें पढ़ने के लिए दैनिक भास्कर ऍप डाउनलोड करें


पिरामण गांव पहुंची अहमद पटेल की पार्थिव देह।

About Post Author




Happy

Happy

0 %


Sad

Sad

0 %


Excited

Excited

0 %


Sleppy

Sleppy

0 %


Angry

Angry

0 %


Surprise

Surprise

0 %

Leave a Reply

Most Popular

कोरोना से भारत में डेढ़ लाख मौतें: दुनिया का तीसरा देश, जहां सबसे ज्यादा मौतें; पर बेहतर इलाज से 4 महीने में 30 हजार...

बुरी खबर है। देश में कोरोना से जान गंवाने वालों की संख्या 1 लाख 50 हजार से ज्यादा हो गई है। भारत दुनिया...

कोरोना देश में: UK से आने वालों के लिए RT-PCR टेस्ट अनिवार्य; हर हफ्ते अब 60 की बजाय केवल 30 फ्लाइट्स होंगी

सिविल एविएशन मिनिस्टर हरदीप सिंह पुरी ने मंगलवार को कहा कि UK से आने वाले सभी लोगों के लिए कोरोना का RT-PCR टेस्ट...

‘अवैध संबंध’ को लेकर महिला ने ‘मानसिक रूप से प्रताड़ित’ किया, सिपाही ने की खुदकुशी

उत्तर प्रदेश के बुलंदशहर में मंगलवार को एक पुलिस कॉन्स्टेबल द्वारा खुदकुशी करने का सनसनीखेज मामला सामने आया है। Source link

Recent Comments