हिमाचल में 400 सड़कें बंद, बीच रास्ते पर फंसे पर्यटक; बाड़मेर में 20 साल का रिकॉर्ड टूटा

0
7
0 0
Read Time:11 Minute, 9 Second


ठंड ने देशभर में अपना असर दिखाना शुरू कर दिया है। हिमाचल की राजधानी शिमला में बर्फबारी के बाद 401 सड़कें बंद हो गईं, जिससे सैकड़ों पर्यटक जगह-जगह पर फंस गए। इसके अलावा यहां पाइपलाइन में पानी जम गया, जिससे लोगों को काफी परेशानी उठानी पड़ी। राजस्थान के बाड़मेर में ठंड ने 20 साल का रिकॉर्ड तोड़ दिया। यहां 24 घंटे में पारा 6.4 डिग्री लुढ़ककर 12.5 डिग्री से सीधे 6.1 डिग्री पर आ गया है।

हरियाणा और छत्तीसगढ़ में मौसम विभाग ने शीतलहर का ऑरेंज अलर्ट जारी किया है। हिमाचल, जम्मू-कश्मीर और लद्दाख रीजन से हाल में पास हुए पश्चिमी विक्षोभ के बाद वहां से स्ट्रांग कोल्ड हवाओं का दौर शुरू हो गया। इससे तापमान में गिरावट हुई।

हिमाचल शीतलहर की चपेट में, 344 ट्रांसफार्मरों को पहुंचा नुकसान

पहाड़ी राज्य हिमाचल के शिमला में सीजन की पहली बर्फबारी हुई। तीन इंच तक बर्फ गिरी। राज्य के अन्य पहाड़ी क्षेत्रों में बर्फबारी व मैदानों में भारी बारिश हुई। पूरा राज्य शीतलहर की चपेट में है। तीन नेशनल हाईवे समेत 401 सड़कें यातायात के लिए बंद हो गई हैं।

कटरा में त्रिकूट पर्वत पर रविवार को मौसम की पहली बर्फबारी हुई। शाम 5.30 बजे से शुरू हुई बर्फबारी आधे घंटे तक जारी रही।

सड़कें बंद होने से कई जगह पर्यटक भी फंस गए हैं। जिन्हें सुरक्षित निकालने के लिए प्रशासन ने काम शुरू कर दिया है। शिमला जिले में एक ही दिन में एचआरटीसी के 150 रूट प्रभावित हुए हैं। 73 बसें बर्फबारी के बीच फंस गई, जिन्हें बाद में रेस्क्यू कर लिया गया। राज्य में 344 ट्रांसफार्मरों को नुकसान पहुंचा है। होटल इंडस्ट्री खुश है क्योंकि नए साल तक बुकिंग फुल है।

शिमला के इंदिरा गांधी स्पोर्ट्स कॉम्प्लेक्स के पास लोग इस तरह फिसलते रहे।

सोमवार को सिर्फ शिमला में ही तीन हजार गाड़ियां व मनाली में एक हजार गाड़ियों में बाहरी राज्यों से पर्यटक पहुंचे। वहीं पुलिस अधीक्षक कुल्लू गौरव सिंह ने बताया कि अटल टनल रोहतांग और सोलंग नाला वाहनों की आवाजाही के लिए बंद हो गया है। शिमला हमीरपुर नेशनल हाईवे पर नालटू के जंगल में अब फिर से बर्फबारी ने लोगों की मुश्किलें बढ़ाई हैं।

बर्फबारी ने पर्यटकों की मुराद पूरी कर दी। शिमला के रिज में मस्ती करते लोग।

बर्फबारी के कारण हमीरपुर, बिलासपुर और धर्मशाला से आने वाली बसें भी जाम में फंसी रही। घणाहट्टी की तरफ से आने वाली गाड़ियों की लंबी लाइन हीरानगर तक लगी रही। हालात ये रहे की कड़कड़ाती इस ठंड में लोगों को अपने परिवार के साथ पैदल ही चलना पड़ा। निचले क्षेत्रों से कई लोग अस्पताल के लिए आए थे, ऐसे में उन्हें काफी परेशानी का सामना करना पड़ा।

बर्फबारी के चलते सुबह काफी देर तक दूध जैसी जरूरी वस्तुएं भी नहीं पहुंच सकीं।

राजस्थान में 24 घंटे के अदर 9 डिग्री गिरा पारा, माउंट आबू में पारा माइनस 2 डिग्री

प्रदेश में सर्दी यू-टर्न ले चुकी है। शीतलहर से एक ही रात में अचानक ठंड बढ़ गई और कई जगह रात का पारा 4 से 9 डिग्री सेल्सियस तक लुढ़क गया। बाड़मेर में 20 साल का रिकॉर्ड टूट गया। यहां 24 घंटे में पारा 6.4 डिग्री लुढ़ककर 12.5 डिग्री से सीधे 6.1 डिग्री पर आ गया। माउंट आबू में पारा दो डिग्री गिरकर एक बार फिर -2.0 डिग्री तक गिर गया। तापमान के हिसाब से माउंट आबू देश सोमवार को सबसे ठंडे 6 हिल स्टेशनों में सबसे ऊपर रहा। यानी शिमला और श्रीनगर से भी ज्यादा ठंडा। क्योंकि शिमला में -1.1 डिग्री और श्रीनगर में 0.6 डिग्री तापमान दर्ज किया गया।

राजस्थान के माउंट आबू में पारा माइनस 2 डिग्री होने से मैदानों में घास पर जमी ओस की बूंदें।

जयपुर समेत 14 जिलों में तेज शीतलहर चलेगी

मौसम विभाग ने जयपुर, अलवर, भीलवाड़ा, चित्तौड़गढ़, झुंझुनूं, सीकर, बीकानेर, चूरू, हनुमानगढ़, श्रीगंगानगर, अजमेर, बूंदी, दौसा और झालावाड़ में तीव्र शीतलहर का असर रहने की संभावना जताई है। अगले 3-4 दिनों में कई शहरों में रात का तापमान 4 से 6 डिग्री तक लुढ़क सकता है। मौसम विभाग पहले ही अधिकतकर इलाकों के लिए 3 दिन का ऑरेंज अलर्ट जारी कर चुका है।

माउंट आबू में पत्ता गोभी के ऊपर जम गई बर्फ।

MP के इंदौर में हवा की दिशा बदलते ही पारा 6 डिग्री गिरा

हवा की दिशा बदलते ही मध्य प्रदेश में तापमान में जोरदर गिरावट आई है। राज्य में सीजन का पहला कोल्ड डे सोमवार को हो गया। अधिकतम तापमान 20.6 डिग्री रहा तो सामान्य से 6 डिग्री कम था। बता दें कि तापमान सामान्य से 5 डिग्री कम होने पर कोल्ड डे माना जाता है।

इंदौर से 40 किमी दूर पेडमी गांव के पास वादियों में यूं ठहरी ठंड।

हरियाणा में 4 दिन कड़ाके की ठंड, पारा शून्य की ओर आएगा

राजधानी हरियाणा| पश्चिमी विक्षोभ से पहाड़ों पर बर्फबारी और मैदानों में बारिश के बाद अब ठंड बढ़ेगी। नारनौल में रात का तापमान 1.6 डिग्री पर आ गया है, जो सामान्य से 4 डिग्री कम रहा। रोहतक में दिन का पारा 15.5 डिग्री दर्ज किया गया। यह सामान्य से 5 डिग्री कम है। शीतलहर की रफ्तार तेज हो गई। हालांकि, दिन में धूप खिलने से कुछ राहत मिली। मौसम विभाग ने हरियाणा में 29 दिसंबर से 1 जनवरी तक कड़ाके की ठंड व शीतलहर का ऑरेंज अलर्ट जारी किया है। पारा शून्य के करीब आ सकता है। पाला जमने के आसार हैं। गहरी धुंध छाएगी। पश्चिमी विक्षोभ के असर से 4 व 5 जनवरी को बारिश हो सकती है।

गुजरात में रात का पारा 4 डिग्री लुढ़का, 2 दिन में 14 डिग्री से नीचे जा सकता है तापमान

उत्तर से चल रही ठंडी हवाओं के कारण सूरत में ठंड फिर से लौट आई है। आठ किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से ठंडी हवाएं चलने से अधिकतम तापमान में दो डिग्री सेल्सियस और न्यूनतम तापमान में 4 डिग्री सेल्सियस की गिरावट हुई है। पारा लुढ़कने से दिन में भी ठंडक का एहसास हुआ।

पंजाब में अगले 48 घंटे कोल्ड डे, शीतलहर चलेगी, बठिंडा 1.50 के साथ सबसे ठंडा रहा

पहाड़ों से चली बर्फीली हवाओं के चलते पंजाब के तापमान में औसतन 4 डिग्री की गिरावट आ गई। हालात ये हैं कि बठिंडा में रात का तापमान केवल 1.5 डिग्री रह गया जबकि दिन में सोमवार को पारा 14 रिकॉर्ड हुआ। फिरोजपुर में रात का पारा 2.4 डिग्री और दिन का पारा 12 रहा। मौसम विभाग ने राज्य में आने वाले 48 घंटे में बेहद गहरी धुंध पड़ने का अलर्ट जारी किया है। रात के समय कड़ाके की सर्दी पड़ने से दिन में भी मध्यम गति की हवाएं चलने से ठिठुरन रहेगी। एक और दो जनवरी को भी प्रदेश से ज्यादातर इलाकों में सूरज नहीं दिखेगा। बादल छाए रहेंगे, धुंध के दौरान विजिबिलिटी बहुत कम रहेगी।

पंजाब के मुक्तसर में पारा 2 डिग्री पहुंच गया है। जिसके बाद दो साल का रिकॉर्ड टूट गया है और विजिबिलिटी 15 मीटर हो गई है।

छत्तीसगढ़ के मैदानी इलाकों में घना कोहरा

अगले तीन-चार दिनों तक छत्तीसगढ़ के मैदानी जिलों में घना कोहरा छाए रहने और तेज हवाएं चलने का अलर्ट भी जारी हुआ है। वहीं दक्षिण-पूर्वी हवा के असर से दिन व रात का तापमान बढ़ गया है। इससे ठंड में हल्की कमी आई है।

छत्तीसगढ़ के मौसम विज्ञान केंद्र लालपुर के विज्ञानियों के अनुसार हवा की दिशा बदलने के कारण अधिकतम व न्यूनतम तापमान बढ़ेगा। प्रदेश में मौसम शुष्क रहेगा व हवा की दिशा बदलने के कारण दिन व रात के तापमान में एक से दो डिग्री की वृद्धि हो सकती है। इससे ठंड में और कमी होगी।

आज की ताज़ा ख़बरें पढ़ने के लिए दैनिक भास्कर ऍप डाउनलोड करें


हिमाचल प्रदेश के कई शहरों में बर्फबारी के बाद जनजीवन काफी मुश्किल हो गया है। फोटो शिमला की है, जहां ताजी बर्फबारी के बाद हर तरफ बर्फ की चादर जम गई है।

About Post Author

Happy
Happy
0 %
Sad
Sad
0 %
Excited
Excited
0 %
Sleppy
Sleppy
0 %
Angry
Angry
0 %
Surprise
Surprise
0 %

Leave a Reply